Tuesday, January 5, 2021

पेंटियम का जन्म

कंप्यूटर के सीपीयू में मुख्य चिप को 'प्रोसेसर' या 'माइक्रोप्रोसेसर' कहा जाता है। माइक्रोप्रोसेसर, एक अर्थ में, कंप्यूटर की आत्मा है। इतिहास में सबसे लोकप्रिय चिप पेंटियम चिप है। इसे १९९३ में इंटेल कॉर्पोरेशन द्वारा पेश किया गया था। माइक्रोप्रोसेसरों को पहली बार १९८० में संगणक में इस्तेमाल किया गया। लेकिन तब तक इन चिप्स को एक नंबर से संबोधित किया जाता था। जैसे ८०८५, ८०८६, ८०१८६, ८०२८६ आदि। १९९३ में इंटेल ने ३.१ मिलियन ट्रांजिस्टर की क्षमता के साथ एक नई चिप डिजाइन की। चिप डिजाइन करने वाली टीम का नेतृत्व भारतीय मूल के कंप्यूटर वैज्ञानिक विनोद धाम ने किया था। नई चिप का नाम रखने के लिए इंटेल कर्मचारियों के बीच एक प्रतियोगिता आयोजित की गई थी। इस प्रतियोगिता से पेंटियम नाम की उत्पत्ति हुई। इसके बाद इंटेल द्वारा निर्मित प्रत्येक चिप का नाम पेंटियम श्रृंखला के नाम पर रखा गया था। हर बार, नई बनाई गई पेंटियम चिप की गति पिछली गति से लगभग दोगुनी होती हैं। आज इंटेल द्वारा निर्मित आई ३, आई ५, आई ७ तथा आई ९ माइक्रोप्रोसेसर पेंटियम की रचना पर ही आधारित है।